Ads (728x90)



भारतीय रेल नेटवर्क एशिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है रोजना लाखों यात्री रेलवे का सफर करतेे हैं रेलवे के परिवहन के लिए एक निश्चित रास्‍ता बनाया जाता है जिसे पटरी कहा जाता हैै जिसके लिए लोहे का प्रयाेेग किया जाता हैै लम्‍बी दूरी में रेलवे लाइन बिछाने के लिए पटरीयों के बडे सेक्‍शन आपस में जोडे जाते हैं अगर आप पटरीयों के इन जोडों को गौर से देखें तो इनमें थोडी-थोडी जगह छोडी जाती है इनको बिलकुुल मिलाकर नहीं लगाया जाता हैै तो आइये जानतेे हैं ऐसा क्‍यों ?

Rail ki Patriyon Ke Beech Mee Khali Jagah Kyu Hoti Hai

रेल की पटरियों के बीच में खाली जगह क्‍यों होती है - Rail ki Patriyon Ke Beech Mee Khali Jagah Kyu Hoti Hai

जैसा कि आप जानते हैं पटरीयॉ लोहे से बनाई जाती है और लोहा गर्मीयों के मौसम में ताप से फैलता है और सर्दीयों में ठंड से सिकुडता है अगर पटरीयोंं को आपस में मिलाकर जोडा जायेगा तो गर्मीयों के मौसम में लैहे के फैैलने केे कारण पटरीयों के टूटने या टेडे मेडे होने की सम्‍भाबना रहती है इस कारण रेल की पटरियों के बीच में खाली जगह छोडी जाती है



हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a Comment

  1. Rail ki patriya kise kahte hain
    Lohe ki bani hoti hai use ya pather ki

    ReplyDelete
    Replies
    1. जो लोहे की बनीं होती हैं उन्‍हें पटरीयॉ करते हैंं

      Delete