Ads (728x90)



भारत और विदेशों में सैंकडों पर्यटक सनसैट का नजारा देखने जाते हैं, समु्द्रतट पर यह ढलता हुआ सूरज बहुत सुंदर लगता है, लेकिन क्‍या आपको पता है कि ढलता हुुआ सूरज हमें लाल क्‍यों नजर आता हैै - 

ढलता हुुआ सूरज हमें लाल क्‍यों नजर आता हैै - Dhalata Hua Suraj Hamin Laal Kyon Najar Aata Hai

जब सूूरज ढल रहा होता है तब रोशनी में मौजूद रंगों को हम तक पहॅुॅुचने के लिए काफी लम्‍बा रास्‍ता तय करना पडता हैै इस दौरान वायु मंडल में उपस्थित धूल के कण (dust particles) प्रकाश काे इधर उधर बिखर (Shattered) जाता है और आप तो जानते ही हैं कि सूर्य का प्रकाश सात रंगों(बैगनी (Purple), नीला (Blue), आसमानी (Cerulean), हरा(Green), पीला (Yellow), नारंगी (Orange), लाल(Red) से मिलकर बना होता है। नीले रंंग का विखराव कम तंरग दैर्ध्‍य के कारण सबसे अधिक हाेेता है नीले रंग के बिखर जाने के बाद सिर्फ लाल रंग और नारंगी रंग ही बचते हैं जो हमारी ऑखों तक सीधे पहूॅचते हैं और यही कारण है कि सूर्यास्‍त के समय आसमाल मेंं लाल रंग होता हैै और सूरज भी लाल नजर आता है। 




हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a Comment