Ads (728x90)



जैसा क‍ि हम जानते हैं प्रत्‍येक वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च के बीच के समय को वित्‍तीय वर्ष कहा जाता है पर क्‍या आपने कभी सोचा है कि जब वर्ष की शुरूआत 1 जनवरी से होती है तो वित्‍तीय वर्ष की शुरूआत 1 अप्रैल से क्‍यों होती है अगर नहीं तो आइये जानते हैं वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च तक क्यों होता है? - Why is the financial year from 1st April to 31st March?

वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च तक क्यों होता है - Why is the financial year from 1st April to 31st March


दरअसल भारत में पहली बार 1867 में बजट पेश किया गया था इस बजट को अंग्रेजों ने 1 अप्रैल से 31 मार्च के बीच प्रस्‍तुत किया था इस बजट को अंग्रेजों ने 1 जनवरी से 31 दिसम्‍बर के बीच इसलिए प्रस्‍तुत नहीं किया था क्‍योंकि साल के अंत में क्रिसमस को त्‍योहार आता है जिसमें लोग काफी व्‍यस्‍थ हो जाते है और उन्‍हें हिसाब किताब करने को समय नहीं मिलता है और तब से लेकर आज तक भारत में वही प्रणाली दाेहराई जा रही है

हालांकि 1 अप्रैल से वित्‍तीय वर्ष की शुरूआत अंग्रेजोंं ने जरूरू की थी लेकिन भारत से अंग्रेजों के जाने के बाद भी इसे जारी रखा गया क्‍योंकि भारत कृषि प्रधान देश हैं और यहॉ फसल भी मार्च के अंत में कटती है और बिकती है, बैसाखी और पोंगल जैसे फसल के पर्व भी भारत भर में इसी समय मनते हैं फसल बिकने के बाद ही किसान नफा-नुकसान के बारे में पता चलता है विक्रम संवत् में और भारत के विभिन्न राज्यों में नया साल अप्रैल के आस पास मनाया जाता है इसी को देखते हुए भारत में अभी भी वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च के बीच मनाया जाता है लेकिन ऐसा नहीं है कि पूरे विश्‍व में वित्‍तीय वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च के बीच मनाया जाता है अगल देशों में वित्‍तीय वर्ष अलग-अलग समय पर मनाया जाता है

Tag - Why the financial year starts from April and ends in March, Why does the financial year start from April 1 every year, Why does the financial year start from April 1 every year





हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a Comment