Ads (728x90)



पासपोर्ट का उपयोग विदेश में यात्रा करने के लिए किया जाता है. यह विदेश यात्रा के समय यात्री की पहचान तथा उसकी नागरिकता को बताता है पासपोर्ट एक्ट 1967 के अनुसार पासपोर्ट एक कानूनी दस्तावेज है जिसे भारत सरकार द्वारा जारी किया जाता है और यह प्रमाणित भी करता है कि धारक जन्म से या नैतिकीकरण के द्वारा भारत का नागरिक है पर क्‍या आपने सोचा है कि  भारत का पासपोर्ट नीले रंग का ही क्यों होता है अगर नहीं तो आइये जानते हैं भारत का पासपोर्ट नीले रंग का ही क्यों होता है - Why is Indian passport blue

भारत का पासपोर्ट नीले रंग का ही क्यों होता है - Why is Indian passport blue

भारत का पासपोर्ट नीले रंग का ही क्यों होता है - Why is Indian passport blue

यह भी पढें - वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च तक क्यों होता है

दुनिया भर में पासपोर्ट में सिर्फ चार ही रंगों को चुना गया है लाल, नीला, हरा और कला, नीला रंग शांति का प्रतीक है नीले रंग को CA-4 संधि वाले देश ने चुना है  यह संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, 15 कैरीबियाई देशों  और मरकोसुर ट्रेड यूनियन (Mercosur Trade Union) का प्रतीक माना जाता है. इसलिए भारत, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में नीले रंग का पासपोर्ट इस्तेमाल किया जाता है साथ ही भारत में भी पासपोर्ट तीन रंग में जारी किया जाता है लाल-डिप्लोमेट्स के लिए, सफेद-सरकारी अधिकारियों के लिए और नीला- बाकियों के लिए यानी रेगुलर पासपोर्ट. नीले पासपोर्ट में दो केटेगरी हैं - एक जिसके लिए प्रवासन जांच की आवश्यकता होती है और दूसरा जिसके लिए नहीं होती है तो आप समझ गये होगें कि भारत का पासपोर्ट नीले रंग का ही क्यों होता है 

Tag - Indian passports, Why is the Indian passport blue, types of passport in indiaWhat are the different types of Indian passports, types of passport in world



हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a Comment